Home व्याकरण संज्ञा उसके भेद और उदाहरण सहित परिभाषा

संज्ञा उसके भेद और उदाहरण सहित परिभाषा

संज्ञा उसके भेद और उदाहरण सहित परिभाषा ।

प्रश्न- संज्ञा किसे कहते हैं ? उसके कितने भेद हैं?

उत्तर- किसी व्यक्ति, स्थान, वस्तु अथवा भाव का बोध करवाने वाले शब्दों को संज्ञा कहते हैं  I जैसे मतलब उदाहरण- अब्दुल्ल कलाम, लालकिले, मेज़, ईमानदारी आदि।
हिन्दी में संज्ञा के मुख्य तीन भेद होते हैं –
•१ व्यक्तिवाचक-  जिस संज्ञा शब्द से किसी एक विशेष व्यक्ति, स्थान या वस्तु   का बोध हो उसे व्यक्तिवाचक संज्ञा कहते हैं। जैसे- हैदराबाद,अनाचारी, राष्ट्रपति भवन, संसद, गीता, रामायण आदि।
•२ जातिवाचक – जिस संज्ञा से किसी जाति का बोध हो,  उसे  जाति वाचक संज्ञा कहते हैं। जैसे- गाय, घोड़ा, शहर, नदी आदि।
• ३ भाववाचक  -जिस संज्ञा शब्द सेेे  किसी गुण, दोष, भाव या दशा का बोध हो , भाववाचक  संज्ञा कहते  हैं। जैसे –   बचपन, जवानी, बुढ़ापा, भलाई, बुुराई, ज्वर, स्वास्थ्य, महत्ता, भद्दापन, सुन्दरता आदि।

नोट- संज्ञा के दो अन्य प्रकार (भेद) भी माने जाते हैं –

(i)-समूहवाचक  – जिन संज्ञा शब्दों   से  किसी समूह का बोध हो उसे ‘समूहवाचक’ संज्ञा कहते हैं। जैसे- गुच्छा, भीड़, सेना, कक्षा, सभा,  मंडली    आदि।
(ii) द्रव्यवाचक  – जिन शब्दों से किसी ठोस  या  तरल  पदार्थों व अनाजों     आदि का बोध हो, द्रव्यवाचक संज्ञा कहलाता है I जैसे – सोना, चांदी, पत्थर,  पानी ,दूध, तेल,  गेहूँ आदि I

प्रश्न- भाववाचक   संज्ञाएं   कितने प्रकार के  शब्दों से बनती हैं? उदाहरण सहित लिखिए I 

उत्तर- भाव वाचक संज्ञाएं चार प्रकार के विकारी शब्दों से बनती है –
(i)जातिवाचक  संज्ञा से – जैसे- बच्चा से बचपन, मनुष्य से मनुष्यता, पशु से पशुता I
( ii) सर्वनाम से- जैसे- अहं से अहंकार, अपना से अपनापन I
(iii) विशेषण से- हरा से हरियाली, ऊँच्चा से ऊँचाई, लोभ से लोभी, चोर से चोरी, मोटा से मोटापा।
(iv)क्रिया से- जैसे- बिकना से बिक्री, चढ़ना से चढ़ाई, बनाना से बनावट, दिखना से दिखावा I 

भाववाचक संज्ञाओं  की रचना

१• जातिवाचक संज्ञा से
बच्चा   बच्चपन,    लड़का   लड़कपन ,   चोर   चोरी,
पशु     पशुता ,      युवक     यौवन  ,    सज्जन  सज्जनता, गुरू     गुरूता(गुरूत्व) , बाल बालपन ,  जवान   जवानी,    मनुष्य  मनुष्यता
२•सर्वनाम से 
आप   अपनापन,     अहं    अहंकार ,    स्व   स्वत्व  ,
निज    निजता (निजत्व)  ,      मम    ममत्व,   
सर्व      सर्वस्व  ।
३• विशेषण से 
कायर     कायरता ,  कुशल  कुशलता (कौशल),
गरीब     गरीबी,     गहराई   गहराई,     दुष्ट  दुष्टता,
नीच     नीचता  ,    परतंत्र    परतंत्रता ,
ब्रह्मचारी    ब्रह्मचर्य,  भूखा   भूख ,  महान  महानता , अच्छा    अच्छाई,  ऊँच्चा ऊँचाई,  आलसी आलस्य,  कटु   कटुता,  कम  कमी,  काला  कालापन (कालिमा) ,  वीर   वीरता ,  लंबा  लंबाई  , स्वस्थ      स्वास्थ्य,        सज्जन  सज्जनता,  हिन्सक  हिन्सा,  हरा हरियाली, 
४• क्रिया से
झुकना   झुकाव,  दौड़ना  दौड़,  पढ़ना  पढ़ाई ,
बचना  बचाव,    हँसना   हँसी,  हारना   हार,
उड़ना  उड़ान ,   उतरना   उतराई , कमाना कमाई, खोजना  खोज,   काटना  कटाई,   घबराना घबराहट।

प्रश्न- जातिवाचक  संज्ञा कब व्यक्तिवाचक रूप में प्रयुक्त होती हैं?

उत्तर- जब जातिवाचक संज्ञा के शब्द को किसी एक व्यक्ति हेतु प्रयुक्त किया जाय तो वह जातिवाचक संज्ञा का व्यक्तिवाचक  रूप कहलाता है। जैसेेेेेेेेे – भारत देश के  स्वतंत्र   होने पर  सर्वप्रथम  पंडितजी नेे लालकिले   पर  झंडा  फहराया । ( नोट-  यहाँ पंडितजी    शब्द  पण्डितजी  जवाहरलाल  नेहरू के लिए प्रयुक्त है। जबकि पण्डित जी जातिवाचक  संज्ञा  का रूप है।)

प्रश्न  – व्यक्तिवाचक संग्या कब जातिवाचक बन जाती है ?

उत्तर- जब कोई व्यक्तिवाचक संग्या का शब्द व्यक्ति विशेष का बोध न करवाकर उस व्यक्ति के गुण- दोषों से युक्त व्यक्तियों की  पूरी जाति का बोध करवाये तो वह व्यक्तिवाचक संग्या का जातिवाचक रूप होता है। जैसे- आज देश को भगतसिंहों की आवश्यकता हो।
और पढ़ने के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें।https://www.krishnaofficial.co.in/

 

संज्ञा उसके भेद और उदाहरण सहित परिभाषा
संज्ञा उसके भेद और उदाहरण सहित परिभाषा

नमस्कार, साथियों मैं Krishnawati Kumari इस ब्लॉग की krishnaofficial.co.in की Founder & Writer हूं I मुझे नई चीजों को सीखना  अच्छा लगता है और जितना आता है आप सभी तक पहुंचाना अच्छा लगता है I आप सभी इसी तरह अपना प्यार और सहयोग बनाएं रखें I मैं इसी तरह की आपको रोचक और नई जानकारियां पहुंचाते रहूंगी।

buy now best price passport holder

best passpor cum card holder
best price pasport cum card holder

Share this post




Stay Connected

604FansLike
2,458FollowersFollow
133,000SubscribersSubscribe

Must Read

Related Blogs

Share this post